Somalia

                                 Somalia A child’s crying for food, But the conditions are doing nothing good. And as the earth heats up during the day, From my heart, my soul, I say: “Oh! Somalia! Oh! East Africa!…

Continue reading

मैं फिर चुप रहा

आज मेरी नातिन ने मुझसे पूछ लिए कई यक्ष प्रश्न नाना ये टोपीवाले अंकल लोग क्या मांगने आते हैं स्वीटी के घर भी गए थे पर कोई उन्हें कुछ देता क्यों नहीं मैंने इस बार तो जवाब दे दिया देते हैं बेटा, वही- जो ये नेता लोग सबको देते हैं…

Continue reading

“जंगल से आती लाल आवाज़ “

“जंगल से आती लाल आवाज़ “ जंगल से आती सारी आवाजों का रंग देखा है मैंने ; शहर का हूँ इसलिए अव्वाज़ सुनिए नहीं देती दीखाइए देती है ; पहली आवाज़ का रंग हरा था ; उन् आवाजों से भला कौन डरा था | शहर बदला , इंसान जंगल मे…

Continue reading

A Key to Thoughts

The day has been hard and night is becoming much harder. He is an intern doctor. Whole day, from eight in the morning to eight at night, he has worked at emergency department. It is not that he hates his work but he neither loves it too. That work has…

Continue reading