प्रतिनिधि कविताएँ – भारत भूषण अग्रवाल

published in the year 2004

कवि, लेखक और समालोचक भारतभूषण अग्रवाल का जन्म 3 अगस्त 1919 (तुलसी-जयंती) को मथुरा (उ.प्र.) के सतघड़ा मोहल्ले में हुआ। उनका निधन 23 जून 1975 (सूर-जयंती) को हुआ। इन्होंने आगरा तथा दिल्ली में उच्च शिक्षा प्राप्त की फिर आकाशवाणी में तथा में तथा अनेक साहित्यिक संस्थाओं में सेवा की। पैतृक व्यवसाय से दूर, उन्होंने साहित्य रचना को ही अपना कर्म माना। पहला काव्य-संग्रह ‘छवि के बंधन’ (1941) प्रकाशित होने के बाद, वे मारवाड़ी समाज के मुखपत्र ‘समाज सेवक’ के संपादक होकर कलकत्ता गए। यहीं उनका परिचय बांग्ला साहित्य और संस्कृति से हुआ। भारतभूषणजी ‘तारसप्तक’ (1943) में महत्वपूर्ण कवि के रूप में सम्मिलित हुए और अपनी कविताओं तथा वक्तव्यों के लिए चर्चित हुए। अपनी अन्य कृतियों ‘जागते रहो’ (1942), ‘मुक्तिमार्ग’ (1947) के लेखन के दौरान वे इलाहाबाद से प्रकाशित पत्रिका ‘प्रतीक’ से भी जुड़े और 1948 में आकाशवाणी में कार्यक्रम अधिकारी बने। 1959 में उनका एक संग्रह ‘ओ अप्रस्तुत मन’ प्रकाशित हुआ, जो उनकी रचनात्मक परिपक्वता और वैचारिक प्रौढ़ता का निदर्शन था।

(Source – wikipedia

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *